Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Kisan Shiksha Yojana: सरकार देगी किसान के बच्चों को बिल्कुल फ्री में शिक्षा, नोटिफिकेशन जारी आवेदन शुरू

सरकार किसान के बच्चों को बिल्कुल निशुल्क में शिक्षा देगी इसके लिए वकायदा नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है और सभी से आवेदन फार्म मांगे हैं।

अगर आप किस है और आप अपने बच्चों की पढ़ाई का पैसा दे रहे हैं तो अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है मुख्यमंत्री किसान शिक्षा प्रोत्साहन योजना लागू कर दी गई है इसके लिए अल्प आय वर्ग लघु सीमांत किसान बटाईदार किसान और खेती और श्रमिकों के परिवारों के लिए अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं को मुक्त शिक्षा प्रदान की जाएगी।

Kisan Shiksha Yojana
Kisan Shiksha Yojana

सरकार द्वारा इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है इसमें बताया गया है कि आगामी वर्ष से इन किसान परिवारों को बिल्कुल निशुल्क में शिक्षा प्रदान की जाएगी इसके लिए अल्प आय वर्ग के अंदर ढाई लाख रुपए तक अगर वार्षिक आय है तो वह भी इसके लिए पात्र होंगे यह योजना 1 जुलाई 2024 से लागू हो जाएगी।

पात्रता: निम्न श्रेणी के राजस्थान के मूल निवासी अभिभावकों (माता-पिता) के बच्चों को इस योजना के अंतर्गत लाभांवित किया जाएगा (क.) अल्प आय वर्ग :- छात्र-छात्राओं के अभिभावक ( माता-पिता) की वार्षिक आय 2.50 लाख रुपये या इससे कम हो ।

लघु/सीमान्त किसानः- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा परिभाषित । लघु एवं सीमांत किसान की परिभाषा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अध्यादेश 2013 के तहत जारी खाद्य सुरक्षा एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के परिपत्र क्रमांक एफ 13 ( 10 ) खा. वि / खा. सु.आ./ 2013 दिनांक 31.08.2013 के अनुसार है

खेतिहर श्रमिक/ भूमिहीन / कृषि मजदूर से अभिप्राय उन व्यक्तियों से है जिनके पास अपनी स्वयं की कोई कृषि भूमि नहीं होती, किन्तु जो कृषकों की भूमि पर एक मजदूर / श्रमिक के रूप में कार्य करते है अथवा जिनके पास अपनी थोड़ी-सी कृषि योग्य भूमि है और वह अपने परिवार के लोगों के भरण-पोषण के लिए कृषि मजदूर बनकर कार्य करता है।

बटाईदार किसान एवं खेतिहर श्रमिक- जिनके पास निम्न दस्तावेज हो- नरेगा जॉब कार्ड, उज्ज्वला योजना में चयनित, राज्य सरकार में अन्य पंजीकृत योजना में चयनित , उस गांव (क्षेत्र) का राशन कार्ड / राजस्थान का मूल निवास प्रमाण पत्र ।

लघु/सीमांत/बटाईदार किसानों और खेतिहर श्रमिकों के बच्चों के अभिभावक (माता-पिता) की वार्षिक आय 2.50 लाख रूपये या इससे कम हो।
यदि आवेदनकर्ता उपरोक्त किसी भी श्रेणी में पात्रता रखता है तो इस आशय का स्वलिखित शपथ पत्र आवेदन पत्र के साथ प्रस्तुत / संलग्न करेगा।

बटाईदार किसान एवं खेतिहर श्रमिक:-बटाईदार किसान, कृषि की उस व्यवस्था को कहा जाता है जिसमें जमीन का मालिक उस पर काम करने वाले किसान को अपनी जमीन का प्रयोग करने का अधिकार इस शर्त पर देता है कि किसान अपनी फसल का कुछ हिस्सा उसके हवाले कर देगा।

आवेदन प्रक्रिया: इसके लिए जब भी आप कॉलेज के अंदर प्रवेश लेते हैं तो इसके लिए आवेदन फॉर्म भरते हैं उसे आवेदन फार्म से की कॉलेज में प्रवेश होने के पश्चात आपको नोटिफिकेशन में जो शपथ पत्र दिया गया है वह शपथ पत्र आपको प्राचार्य के पास में जमा करना होगा इसके बाद में आवेदन फीस आपकी नहीं ली जाएगी इसके लिए विस्तृत दिशा निर्देश कॉलेज के अंदर भी जारी किए जाएंगे।

Kisan Shiksha Yojana Update

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

मुख्यमंत्री किसान शिक्षा प्रोत्साहन योजना का नोटिफिकेशन डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

हेलों दोस्तों! मुझे पत्रकारिता के क्षेत्र में 8 साल काम करने का अनुभव प्राप्त है। प्रतिष्ठित अखबार में काम करने के अलावा न्यूज पॉर्टल में 3 साल सेवा दी जिसमें मैंने शिक्षा, क्राइम, पॉलिटिकल, बिजनेस, ऑटो, गैजेट्स और मनोरंजन बीट्स पर काम किया। अब नई पारी तेजी से उभरती वेबसाइट StudyGovtHub.Com में सेवा दे रहे हैं। में राजस्थान के एक छोटे से गांव से हूं यहां पर मैंने 10वीं तक पढ़ाई की इसके बाद में शहर चला गया जहां पर मैंने 12वीं तक पढ़ाई कंप्लीट की, मैंने कॉलेज की पढ़ाई उत्तर भारत की सबसे बड़ी सरकारी कॉलेज एसके कॉलेज सीकर से की है वहीं पर मैंने बाद में कानून की पढ़ाई की। हमारा मकसद लोगों तक तथ्यों के साथ सही खबरें पहुंचाना है।

Leave a Comment