Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

NEET UG Paper Leak: छात्रों का आरोप एनटीए ने दोबारा नीट आवेदन विंडो क्यों खोला, देखिए नीट पेपर लीक रिपोर्ट

नीट परीक्षा के आवेदन को लेकर एक और बड़ा सवाल उठ रहा है कि आखिर 25 दिन बाद एनटीए के द्वारा दोबारा आवेदन विंडो क्यों खोला गया।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की तरफ से नीट की परीक्षा समाप्त होकर रिजल्ट आने के बाद में बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं नीट परीक्षा के आवेदक को लेकर एक बड़ा सवाल उठ रहा है कि आखिर 25 दिनों के बाद एनटीए की तरफ से दोबारा आवेदन विंडो क्यों खोला गया क्योंकि अब तक नीट के इतिहास में ऐसा कभी भी पहले नहीं हुआ है।

NEET UG Paper Leak
NEET UG Paper Leak

पहले आवेदकों के अनुरोध पर आवेदन की अंतिम तिथि एक-दो दिन के लिए बढ़ा दी जाती थी पर नीट यूजी 2024 में तो सीधे 25 दिन बाद दोबारा मौका देकर एनटीए ने सबको चौका दिया नीट यूजी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 16 मार्च को समाप्त हो गई थी उम्मीदवारों को 18 से 20 मार्च तक नित 2024 के करेक्शन विंडो के माध्यम से अपने आवेदन में सुधार करने का मौका दिया गया था।

करीब 25 दिनों के बाद यानी 9 और 10 अप्रैल को आवेदन का विंडो किस परिस्थिति में खोला गया मांग है उम्मीदवारों की मांग है की अंतिम दो दिनों में जिन अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था उनका परीक्षा केंद्र कहां था उनके शहरों और परीक्षा केदो का नाम क्यों नहीं सार्वजनिक किए जा रहे इसके अलावा एनटीए ने कई बिंदुओं का स्पष्ट जवाब नहीं दिया है यही वजह है कि रिजल्ट पर सवाल खड़ी किया जा रहे हैं।

इधर मेडिकल परीक्षा विशेषज्ञ और शिक्षाविदों की माने तो अब तक हुए जांच में जो मामले सामने आए हैं पटना पुलिस द्वारा पकड़े गए व्यक्तियों ने पूछताछ में कबूल किया है कि एक दिन पहले प्रश्न पत्र मिल गए थे उन्हें खेमनीचक कि किसी स्कूल में प्रश्न पत्र का उत्तर रटवाया गया था।

वहीं प्रश्न पत्रों को रटवाने के बाद जला दिया गया था 5 मई को परीक्षा के दिन उन्हें पकड़ा गया था मामले की जांच यू कर रही है एनटीए द्वारा साथ में सहयोग क्यों नहीं कर रहा है वही ग्रेस मार्क को लेकर भी विवाद खड़ा हो रहा है मेडिकल परीक्षा विशेषज्ञ और गोल के निदेशक विपिन सिंह ने कहा है कि नीट परीक्षा में इतनी बड़ी संख्या में अभ्यर्थीयो ने रैंक फर्स्ट कैसे प्राप्त कर ली।

NEET UG Paper Leak Update

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

वही एनटीए की ओर से कुल अभ्यर्थियों को दिए गए ग्रेस मार्क को लेकर भी विवाद है इसके अलावा जिन छात्रों को 718 और 719 अंक मिले हैं ग्रेस मार्क्स बाद इस तरह के आउट नंबर नहीं मिलनी चाहिए थे वहीं नीट के प्रोस्पेक्टस में भी कहीं भी नॉर्मलाइजेशन का जिक्र नहीं है इसकी जांच होनी चाहिए।

हेलों दोस्तों! मुझे पत्रकारिता के क्षेत्र में 8 साल काम करने का अनुभव प्राप्त है। प्रतिष्ठित अखबार में काम करने के अलावा न्यूज पॉर्टल में 3 साल सेवा दी जिसमें मैंने शिक्षा, क्राइम, पॉलिटिकल, बिजनेस, ऑटो, गैजेट्स और मनोरंजन बीट्स पर काम किया। अब नई पारी तेजी से उभरती वेबसाइट StudyGovtHub.Com में सेवा दे रहे हैं। में राजस्थान के एक छोटे से गांव से हूं यहां पर मैंने 10वीं तक पढ़ाई की इसके बाद में शहर चला गया जहां पर मैंने 12वीं तक पढ़ाई कंप्लीट की, मैंने कॉलेज की पढ़ाई उत्तर भारत की सबसे बड़ी सरकारी कॉलेज एसके कॉलेज सीकर से की है वहीं पर मैंने बाद में कानून की पढ़ाई की। हमारा मकसद लोगों तक तथ्यों के साथ सही खबरें पहुंचाना है।

Leave a Comment